Meri Pathshala Essay In Hindi – पाठशाला हिन्दी निबंध

Meri Pathshala Essay In Hindi : नमस्कार दोस्तों मैं आपका आज के इस आर्टिकल में स्वागत करता हूं दोस्तों आज हम हमारे स्कूल की सारी जानकारी इस आर्टिकल में देखने वाले हैं जो कि आपको बहुत से परीक्षा में पूछे जाती है तो दोस्तों चलो शुरू करते हैं आज का आर्टिकल. और अधिक आर्टिकल दोस्तों पढ़ने के लिए आप हमारे marathijobs.in इस वेबसाइट पर हमेशा विजिट करते रहे

Meri Pathshala Essay In Hindi - पाठशाला हिन्दी निबंध
Meri Pathshala Essay In Hindi – पाठशाला हिन्दी निबंध

Meri Pathshala Essay In Hindi – पाठशाला हिन्दी निबंध

पाठशाला हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है पाठशाला में हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है पाठशाला में शिक्षक हमें नए नए विषयों की शिक्षा देते हैं जिससे हमारा जीवन उभरता है मुझे पाठशाला बहुत अच्छी लगती है और मैं पाठशाला में जाना पसंद करता हूं

पाठशाला में दोस्तों से मुलाकात होती है मेरे बहुत से दोस्त पाठशाला के है । पाठशाला में नया-नया दोस्तों से कुछ सीखने भी मिलता है साथी शिक्षक भी हमें नया-नया सिखाते हैं

पाठशाला के माध्यम से हम अपने जीवन को एक सही राह देख सकते हैं हमारा जीवन जो हमें उज्जवल बनाने के लिए पाठशाला जाना बहुत जरूरी है हमारी पाठशाला हमारे गांव से 2 किलोमीटर बाहर नैसर्गिक जगह पर है यह जगह काफी अच्छी है मेरी पाठशाला 3 मंजिला है मेरे पाठशाला का नाम ज्ञान माता है

मेरी पाठशाला बहुत ही बड़ी है वहां बहुत सारे खेलने के लिए अलग-अलग क्रीडा के लिए बहुत सारे खिलौने हैं हमारे स्कूल में बहुत सारे पेढ पौधे है वहां का वातावरण काफी स्वस्थ और निराला है वहां की हवा काफी शुद्ध है

See also पेड़ की आत्मकथा - ped ki aatmkatha

हमारी पाठशाला सुबह 8:00 बजे शुरू होती है पाठशाला में सर्वप्रथम साफ सफाई की जाती है सभी कचरा कूड़ा एकत्रित करके कूड़ादान में रख दिया जाता है तत्पश्चात सभी विद्यार्थी अपने हाथ धोकर पाठशाला की प्रार्थना करने के लिए लाइन में खड़े हो जाती है प्रार्थना के पश्चात सभी विद्यार्थी अपने अपने कक्षा में जाते हैं तत्पश्चात वर्ग शिक्षक सभी बच्चों को अभिवादन गुड मॉर्निंग करते हैं गुड मॉर्निंग करने के बाद बच्चे भी टीचर को गुड मॉर्निंग कहते हैं गुड मॉर्निंग टीचर ऐसा कहते हैं तत्पश्चात शिक्षक अटेंडस लेती है पाठशाला में बहुत ही कड़ी अनुशासन है और सभी बातों का नियम से पालन करना अनिवार्य होता है जो कि हमें जीवन में सफल बनाने के लिए काफी महत्वपूर्ण है ।मेरी पाठशाला बहुत ही बड़ी है वहां बहुत सारे खेलने के लिए अलग-अलग क्रीडा के लिए बहुत सारे खिलौने हैं हमारे स्कूल में बहुत सारे पेढ है वहां का वातावरण काफी स्वस्थ और निराला है वहां की हवा काफी शुद्ध है

तत्पश्चात हमारे क्लास में अटेंडेंस होती है सभी बच्चे हाजिरी देते हैं शिक्षक हर बच्चे का नाम पुकारते और वह बच्चा मैं हाजिर हूं यस सर ऐसा कहता है अगर आपको जीवन में सफल बनना है तो रोज आप स्कूल में जाना जरूरी है क्योंकि स्कूल में जाकर में नई नई चीजें सीखने को मिलती है हमारे स्कूल में यूनिफार्म है सभी बच्चे एक ही यूनिफार्म में आते हैं हमारे स्कूल में वाइट शर्ट और नीचे स्काई ब्लू कलर का पेंट है तत्पश्चात 1 दिन के लिए हमें स्पोर्ट्स डे घोषित किया है उस दिन हमें अलग पोशाक रहता है उस दिन हमें काफी मौज मस्ती का दिन होता है और हम काफी उस दिन इंजॉय करते हैं सभी प्रकार के खेल हम खेलते हैं कबड्डी खो-खो क्रिकेट आदि खेल और कवायद भी करा कर ली जाती है

See also वायू प्रदूषणावर निबंध - Air Pollution Information In Marathi

हमारे पाठशाला में सभी जरूरतों के हिसाब से सारी चीजें उपलब्ध है जैसे की पुस्तक सामग्री है खेलकूद के लिए सभी प्रकार के क्यारम बोर्ड , बास्केटबॉल ,क्रिकेट ,फूटबॉल ऐसे सभी खेलों के लिए सामग्री उपलब्ध है हमारे यहां पर पाठशाला में आठवीं तक पढ़ाया जाता है हमारे स्कूल में छात्र और छात्राएं दोनों भी है हमारे यहां पर 25 अध्यापक है जिसमें 17 प्राध्यापक और 7 प्राध्यापिका किया है और एक प्रधान प्राध्यापक है मेरा स्कूल बहुत सुंदर है मैं रोज स्कूल जाता हूं और मेरा स्कूल को मैं काफी पसंद करता हूं

हमारे स्कूल में सभी शिक्षक काफी हेल्पफुल नेचर के है और वह हमें हमेशा मदद करते हैं हमें कुछ भी दिक्कत आ जाए कुछ सवाल हम उन्हें जाकर पूछ सकते और हमें वह उसका सलूशन निकाल कर देते हैं इसीलिए इस स्कूल को मैं काफी पसंद करता हूं और हमें कभी भी डांटे नहीं है कुछ गलत हुआ तो हमें समझा कर बताते हैं

निष्कर्ष –

तो दोस्तों आज हमने जाना स्कूल के बारे में सभी जानकारी हमने इस लेख में जानी है आपको हमारा लेख कैसा लगा हर बच्चे को अपना स्कूल काफी पसंद होता है और स्कूल यह हमें शिक्षा देता है इसीलिए अगर आप भी स्कूल में गए हो तो अपने दोस्तों के साथ इस आर्टिकल को शेयर करना ना भूलें धन्यवाद

1 thought on “Meri Pathshala Essay In Hindi – पाठशाला हिन्दी निबंध”

Leave a Comment