unseen poem in hindi with questions and answers

Here we share unseen poem in hindi with questions and answers

Unseen Poem 1

खुली आँखों से देखा है मैंने, धरती को, आसमान को। फूलों को, पत्तों को, हर रंग भरे इन्सान को।

प्रकृति के इस सौंदर्य को, कैसे करूँ वर्णन? सब लबों से कुछ भी नहीं, कहने को शब्द अपुराण।

धरती पर कोई भी जन्तु, सब एक-दूसरे से भिन्न। परंतु मनुष्य अलग-अलग, इसमें छिपा समृद्धि विस्तार अद्भुत।

जब बन जाते दोस्त अपने, प्रेम की हो अभिव्यक्ति। तभी मिलती है सच्ची सख़ी, जीवन को मिलता है अर्थ और महत्व।

स्नेहियों के साथ गुजरता वक्त, हंसते-हंसते हो जाएं रंगीन। चोट आए या हो हार, साथी होते सच्चे और मधुर आवाज।

कभी मत भूलो इस सच्चाई को, दोस्ती का मूल मंत्र। सभी को गले लगाने से पहले, याद रखो यह विचार।।

Questions:

Q1: कवि ने प्रकृति के सौंदर्य को देखा है और उसे कैसे वर्णन करने की कोशिश की है?

Q2: मनुष्य और जन्तुओं के बीच में क्या अंतर होता है? इसमें क्या विशेषता है?

Q3: सच्ची दोस्ती की महत्वता को समझाती कुछ पंक्तियाँ लिखें।

Answers:

A1: कवि ने प्रकृति के सौंदर्य को देखा है और उसे वर्णन करने के लिए कहा है कि उसे सब लबों से भी बयान नहीं किया जा सकता है। वह प्रकृति के सौंदर्य के अद्भुतता को चित्रित करने की कोशिश करता है।

A2: मनुष्य और जन्तुओं के बीच यह अंतर है कि धरती पर कोई भी जन्तु अपने-आप में अलग-अलग होता है, परंतु मनुष्य अपने समृद्धि, विचार, भावनाएं और सम्बंधों में अद्भुत विविधता लाता है।

A3: सच्ची दोस्ती की महत्वता को समझाने के लिए कवि ने कहा है कि दोस्ती का मूल मंत्र है “सभी को गले लगाने से पहले, याद रखो यह विचार।” यह बताता है कि अच्छे दोस्त साथी होते हैं जो हंसते-हंसते जीवन को रंगीन बना देते हैं और जब हार होती है तो वे साथ देते हैं और मधुर आवाज़ से समर्थन प्रदान करते हैं।

See also आरोग्य विभाग भरती 2021- महत्वाची 100 प्रश्न उत्तरे // Aarogya vibhag bharti 2021 Important Questions With Answers estudycircle

unseen poem 2 in hindi

कलियों की खिलती गुलदस्ता, बगीचे में बन रहा था।

धूप में खिल रहे थे वे, मस्ती में झूम रहे थे।

प्रकृति की इस सुंदरता को, देखकर मन हुआ खिलता।

बगीचे का वो नजारा, सबको भाया अच्छा।

स्वभाव से ही खुशियाँ, मिली इन्हें फूलों से।

खुद को भूलकर वे खिले, न जाने कहाँ से।

मधुमक्खी को आकर्षित कर, मिले वे मिठे गूदे से।

प्रकृति ने दिया संदेहशील, खास यह विशेष अंदाज़।

परंतु वह खिलती कलियाँ, क्या जानतीं थी अब।

आज वे खिले तो भी सबके लिए, उनका दिल है सबसे खास।

MCQ Questions:

Q1: किसे खिलती गुलदस्ता बनने का मौका मिला था?

a) फूलों को (Flowers)

b) कलियों को (Buds)

c) बगीचे को (Garden)

d) मधुमक्खियों को (Bees)

Q2: बगीचे के नजारे को सभी को कैसा लगा?

a) अच्छा (Good)

b) खास (Special)

c) सुंदर (Beautiful)

d) आकर्षक (Attractive)

Q3: किस विशेषता के कारण खिले फूल मधुमक्खियों को आकर्षित करते हैं?

a) मिठे गूदे (Sweet nectar)

b) खिलता हुआ रंग (Blooming color)

c) महक (Fragrance)

d) सुंदरता (Beauty)

Q4: खिलती कलियाँ किसके लिए खास थीं?

a) सबके लिए (Everyone)

b) मधुमक्खियों के लिए (Bees)

c) बगीचे के लिए (Garden)

d) उनका दिल (Their hearts)

Answers:

  1. b) कलियों को (Buds)
  2. a) अच्छा (Good)
  3. a) मिठे गूदे (Sweet nectar)
  4. d) उनका दिल (Their hearts)

Leave a Comment